ए.ए.एच.एफ. के संस्थापक स्व0 डा0 वाई0 एल0 नेने की चौथी पुण्यतिथि पर दी गयी भावभीनी श्रद्धांजलि।

एशियन एग्री-हिस्ट्री फाउंडेशन (ए.ए.एच.एफ.) के संस्थापक अध्यक्ष एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कृषि वैज्ञानिक स्व0 डा0 वाई0 एल0 नेने को उनकी 4थी पुण्यतिथि पर ए.ए.एच.एफ., गोबिन्द बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, के स्व0 डा0 वाई0 एल0 नेने मेमोरियल पुस्तकालय प्रांगण में (जोकि कृषि महाविद्यालय के सस्य विज्ञान विभाग विंग-2 में स्थापित है), भावभीनीं श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।

इस मौके पर वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से डॉ एसपीएस बेनीवाल, अध्यक्ष, ए.ए.एच.एफ., डॉ जे कुमार, कुलपति ग्राफिक एरा युनिवर्सिटी एवं ट्रस्टी, ए.ए.एच.एफ. ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। अधिष्ठाता कृषि डॉ शिवेन्द्र कश्यप, डॉ सुनीता टी पाण्डेय, कार्यकारी सचिव ए.ए.एच.एफ., डॉ ए के उपाध्याय, सचिव उत्तराखण्ड चैप्टर, ए.ए.एच.एफ.ए डॉ एम एस पाल, डॉ राजीव रंजन के अतिरिक्त विश्वविद्यालय के संकाय सदस्य व विद्यार्थी मौजूद रहे।

स्व0 डा0 नेने द्वारा भारत की प्राचीन विरासत पर किये गये कार्यांे की चर्चा हुई। उल्लेखनीय है कि उनके द्वारा वर्तमान कृषि सम्बन्धित परिस्थितियों हेतु दिये गये मार्गदर्षन पर वर्तमान में देश का ध्यान गया है और कार्य प्रारम्भ हुआ है। भारतीय कृषि पंरम्पराओं में वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर समग्र रूप से देष भर के कृशि एवं सम्बन्धित संस्थानों में नेटवर्किगं मोड में परियोजनाओं का संचालन करना एक उत्तम पहल होगी। यही स्व0 डा0 नेने का सपना था जिसको पूरा करना ही उनको सच्ची श्रद्धांजलि देना होगा।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!