केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की परीक्षा में अक्षत ने किया टाॅप, बने सहायक कमांडेंट,

सफलता का जुनून व कड़ी मेहनत के बल पर गोविन्द बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में वित्त नियंत्रक कार्यालय में उप नियंत्रक डा. जेसी बडोला व सेवानिवृत्त वैयक्तिक सहायक विमला बडोला के मेधावी पुत्र तथा प्रौद्योगिक महाविद्यालय के बीटेक विद्युत अभियांत्रिकी के पूर्व छात्र अक्षत बडोला ने संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल(सहायक कमांडेंट) परीक्षा 2020 के परिणामों के आधार पर तथा 6 दिसम्बर से 24 दिसम्बर 2021 तक आयोजित व्यक्तिगत परीक्षण के लिए हुए साक्षात्कार के आधार पर इस परीक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया है।

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल(सहायक कमांडेंट) परीक्षा 2020 में सफल अभ्यर्थियों को व्यक्तिगत परीक्षण के लिए बुलाया गया था। जिसमें से सफल अभ्यर्थियों को कठिन व्यक्तिगत परीक्षण किया गया। जिसमें से 187 सफल अभ्यर्थियों को चयनित किया गया। इन चयनित अभ्यर्थियों में अक्षत बडोला नेे पहला स्थान प्राप्त किया। अक्षत बडोला ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा स्थानीय कैम्पस स्कूल से प्राप्त की। साथ ही विश्वविद्यालय के प्रौद्योगिक महाविद्यालय से वर्ष 2019 बीटेक इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग उपाधि प्राप्त की।

वर्तमान में अक्षत दिल्ली विकास प्राधिकरण में नायब तहसीलदार के पद पर कार्यरत हैं। अक्षत इस परीक्षा की तैयारी वर्ष 2019 से कर रहे थे। सहायक कमांडेंट के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल(सहायक कमांडेंट) के लिए सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(सीआईएसएफ) तथा भारत तिब्बत सीमा पुलिस(आईटीबीपी) में से किसी एक सुरक्षा बल को चुना जा सकता है। अक्षत की इस उपलब्धि पर विश्वविद्यालय में खुशी की लहर है। अक्षत ने अपनी सफलता श्रेय अपने माता-पिता की प्रेरणा व कड़ी मेहनत को बताया।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!