‘मेरा जीवन – मेरा योग’ वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता विश्‍व स्‍तर पर आयोजित 

कोविड-19 की वजह से देश में मौजूदा स्वास्थ्य आपात स्थिति के मद्देनजर इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पूरी दुनिया में डिजिटल प्‍लेटफॉर्मों के माध्‍यम से मनाया जाएगा। यह बात भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) के अध्‍यक्ष डॉ. विनय सहस्रबुद्धे ने आयुष मंत्रालय के साथ आज आयोजित संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कही। डॉ. सहस्रबुद्धे ने कहा कि इस वर्ष होने वाले आयोजन के दौरान लोगों के लिए योग की उपयोगिता, वैश्विक महामारी से निपटने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने और इस संकट के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के प्रबंधन के तहत समुदाय को मजबूत करने पर प्रकाश डाला जाएगा। आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा भी संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में उपस्थित थे।

‘मेरा जीवन – मेरा योग’ वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता में भाग लेने पीएम मोदी ने किया आह्वान

कोविड-19 महामारी उत्‍पन्‍न करने वाले वायरस के अत्यधिक संक्रामक स्‍वरूप को देखते हुए कोई भी जन सभा या सम्‍मेलन आयोजित नहीं किया जाएगा। यही कारण है कि इस वर्ष मंत्रालय लोगों को अपने पूरे परिवार की भागीदारी के साथ अपने-अपने घरों में ही योगाभ्यास करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। डॉ. सहस्रबुद्धे ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने सभी लोगों से ‘मेरा जीवन – मेरा योग’ वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता में भाग लेने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि इस वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता के माध्यम से आयुष मंत्रालय और आईसीसीआर योग के बारे में जागरूकता बढ़ाने और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस यानी आईडीर्वाइ 2020 मनाने के लिए लोगों को तैयार करने एवं इसमें सक्रिय भागीदार बनने के लिए प्रेरित करना चाहते हैं।

भारत के प्रतिभागियों के मामले में प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार पाने वालों को प्रत्येक श्रेणी के लिए 1 लाख रुपये, 50,000 रुपये और 25,000 रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा, जबकि वैश्विक पुरस्कार 2500 डॉलर, 1500 डॉलर और 1000 डॉलर के होंगे।

इस अवसर पर आयुष मंत्रालय में सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा कि पीएम द्वारा इस प्रतियोगिता की घोषणा करने से लोगों में जबरदस्त उत्सुकता उत्‍पन्‍न हुई है और इसमें उनकी व्‍यापक रुचि भी है। आयुष मंत्रालय को भरोसा है कि यह रुचि लोगों के अच्‍छे स्वास्थ्य के रूप में नजर आएगी, क्योंकि कोविड-19 महामारी की स्थिति के कई पहलुओं के प्रबंधन में योग के सकारात्मक प्रभाव से लोग अब तक अच्छी तरह से अवगत हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रतियोगिता योग की उपचारात्मक और चिकित्सीय क्षमता के साथ-साथ लोगों के जीवन पर योग के उल्‍लेखनीय परिवर्तनकारी प्रभावों के बारे में भी वैश्विक स्‍तर पर जागरूकता बढ़ाने में व्‍यापक योगदान देगी। उन्होंने कहा कि योग संस्‍थानों, योग स्टूडियो, योग प्रोफेशनलों जैसे सभी हितधारकों को प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया सहित उनके विभिन्न प्लेटफॉर्मों के माध्यम से ब्लॉगिंग प्रतियोगिता के बारे में जागरूक किया जा रहा है। ब्लॉगिंग प्रतियोगिता mygov.gov.in जैसे विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्मों पर शुरू हो गई है और 15 जून 2020 को समाप्त हो जाएगी, जिसके बाद निर्णायक मंडल सामूहिक रूप से विजेताओं के नामों की घोषणा करेगा। वीडियो प्रतियोगिता के लिए प्रतिभागियों द्वारा प्रविष्टियों को तीन श्रेणियों के तहत प्रस्तुत किया जा सकता है जिनमें युवा (18 वर्ष से कम आयु), वयस्क (18 वर्ष से अधिक उम्र) और योग प्रोफेशनल शामिल हैं और इसके साथ ही ये श्रेणियां पुरुष एवं महिला प्रतिभागियों के लिए अलग-अलग होंगी। इस तरह से कुल छह श्रेणियां हैं।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!