दलित भोजन माता के जातीय उत्पीड़न के खिलाफ सवर्ण मानसिकता का जलाया पुतला और मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

पंतनगर। प्रगतिशील भोजन माता संगठन , प्रगतिशील महिला एकता केंद्र तथा इंकलाबी मजदूर केन्द्र एवं ठेका मजदूर कल्याण समिति पंतनगर के कार्यकर्ताओं द्वारा चंपावत जिले के सुखी डांग इंटर कॉलेज की दलित भोजन माता सुनीता देवी के जातीय उत्पीड़न के खिलाफ पीपल चौराहा पंतनगर पर सभा में सवर्ण मानसिकता का पुतला फूंका और मुख्यमंत्री उत्तराखंड शासन को ज्ञापन भेजा गया।

सभा में ब्लॉक प्रभारी तलाशी ने कहा कि आज हम 21वीं सदी में जी रहे हैं लेकिन जातिवाद का दंश हमारे समाज से खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। शिक्षा का काम जाति व्यवस्था पर चोट करना है। लेकिन शिक्षा देने वाली जगहें भी जाति उत्पीड़न से मुक्त नहीं है।

प्रगतिशील महिला एकता केंद्र की लक्ष्मी पंत ने कहा कि सुखी डांग इंटर कॉलेज में दलित भोजन माता के हाथ का बना खाना खाने से सवर्ण बच्चों का इनकार करना और प्रशासन द्वारा बच्चों अभिभावकों को समझाने के बजाय भोजन माता पर ही कार्यवाही करना शर्मनाक है।

ठेका मजदूर कल्याण समिति के रमेश कुमार ने कहा कि सुनीता के इस जातीय उत्पीड़न की खिलाफत करने और न्याय मिलने तक सांझा संघर्ष को आगे बढ़ाने की बात की।

इंकलाबी मजदूर केन्द्र के मनोज कुमार ने कहा कि आज भी समाज में मजदूर मेहनतकश जनता दलित महिलाओं के खिलाफ माहौल कायम है। सरकार द्वारा समाज में जागरूकता पैदा करने की बजाय मजदूर मेहनतकश जनता के हक अधिकारों को खत्म करने पर तुली है। भोजन माता सुनीता के न्याय के लिए मजदूर वर्ग को संगठित होकर संघर्ष करने पर जोर दिया। इस दौरान सवर्ण मानसिकता मुर्दाबाद। चंपावत प्रशासन शर्म करो। जातिगत उत्पीड़न बंद करो। भोजन माता सुनीता को न्याय दो। आदि नारे लगाए गए। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में।सुनीता के जातीय उत्पीड़न की निंदा करते हुए उसे न्याय दिलाने की मांग की गई। सभा का संचालन अभिलाख सिंह ने किया ।

कार्यक्रम में मीना, तलाशी,किरन,नीलम, कलावती, लक्ष्मी पंत, संगीता, शोभा, शांति, विनीता, सुशीला राजकली,सोना, राशिद, मनोज कुमार , रमेश कुमार, सुभाष, भरत यादव, सुरेश, छत्रपाल ,मीनू,आदि शामिल रहे।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!