नगला और गोलगेट पर 62 दुकान/मकान वालों को पंतनगर विश्वविद्यालय प्रशासन ने थमाए नोटिस। कब्जा हटाने के लिए दिया 2 दिन का समय।

कोरोनाकाल में इतने परिवारों के लिए खड़ा हुआ रोजी-रोटी और मकान का संकट। लोगों में भारी रोष और चिंता।

यहाँ खबर सुन सकते हैं …..

मामला पंतनगर विश्वविद्यालय से सटे नगला, गोलगेट क्षेत्र का है जहां हल्द्वानी-किच्छा राज्य मार्ग के दोनों तरफ लगभग 1500 परिवार निवास करते हैं। इन परिवारों में से 62 लोगों के खिलाफ पंतनगर प्रशासन ने नोटिस जारी कर दिया है। नोटिस में कहा गया है कि 12 जून 2021 की सायं 5 बजे तक दुकान या मकान / अवैध अतिक्रमण को हटा लिया जाए। नोटिस के अनुसार यदि कोई स्वयं अतिक्रमण नहीं हटाता है तो जिला प्रशासन व विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कार्यवाही कर अतिक्रमण को ध्वस्त किया जाएगा। साथ ही उसके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही भी की जाएगी।

जिलाधिकारी उधम सिंह नगर के आदेश पर सक्षम अधिाकारी द्वारा समिति गठित कर अवैध कब्जों का चिन्हित किया गया। इसके बाद आज लगभग 62 लोगों को नोटिस थमा दिया गया है। पंतनगर विश्वविद्यालय से सटी हुई भूमि जो तराई स्टेट फॉर्म के नाम है जो नक्शे में नाले के रूप में प्रदर्शित है। उस पर बसे हुए लोगों के सामने अब रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। नगला, गोलगेट के निवासियों ने सरकार से अनुरोध किया है कि सरकार इन सभी प्रभावित परिवारों की सहायता करे।

उच्च न्यायालय, उत्तराखण्ड नैनीताल द्वारा जनहित याचिका के आधार पर जिलाधिकारी उधम सिंह नगर को आदेश दिया गया था कि इस मामले पर कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। इसी आदेश के अनुपालन में डीएम उधम सिंह नगर द्वारा पंतनगर विश्वविद्यालय के स्वामित्व वाली भूमि पर किये गये अवैध अतिक्रमण को हटान के संबंध में पंतनगर विश्वविद्यालय प्रशासन को निर्देशित किया है। नगला किच्छा राज्य मार्ग सं. 44 जोकि राज्य मार्ग की श्रेणी में है। यह नगला तिराहा से किच्दा होते हुए पुलभट्टा तक जाती है। इस मार्ग के बांयी ओर रेलवे लाइन व मुख्य सड़क के मध्य लोक निर्माण विभाग की भूमि है तथा मार्ग के दायीं ओर भूमि तराई स्टेट फार्म जो कि पंतनगर विश्वविद्यालय के नाम है, अभिलेखों में दर्ज है।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी