पंतनगर विश्वविद्यालय में आयोजित जिले की महिला स्वयं सहायता समूहो द्वारा निर्मित उत्पादों और हस्तशिल्पो की राज्यपाल ने की सराहना।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह( से नि) ने सोमवार को तराई भवन अतिथि गृह, पंतनगर में आयोजित उधम सिंह नगर जिले की महिला स्वयं सहायता समूहो द्वारा आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। राज्यपाल ने महिला स्वयं सहायता समूहो द्वारा  निर्मित उत्पादों और हस्तशिल्पो  की सराहना की। उन्होंने उपस्थित सभी महिलाओं से बातचीत कर उनका उत्साहवर्धन किया।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) ने कहा कि उन्होंने राज्य के पर्वतीय जिलों के भ्रमण के दौरान उत्तराखंड की महिलाओं द्वारा स्वयं सहायता समूहो तथा माइक्रोफाइनेंस के द्वारा किए जा रहे क्रांतिकारी कार्यों को देखा। राज्यपाल पर्वतीय महिलाओं की परिश्रम, लगन, साहस और जुझारूपन  से अत्यंत प्रभावित है। उन्हें उत्तराखंड की महिलाओं पर गर्व है।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने कहा कि उत्तराखंड निर्माण में भी महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। आज भी राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में महिलाएं आर्थिक एवं सामाजिक संरचना की रीढ़ हैं। राज्य में स्थानीय उत्पादों पर आधारित महिला उद्यमियों को प्रोत्साहन से महिला सशक्तिकरण एवं स्थानीय उत्पादों के संरक्षण का दोहरा लक्ष्य प्राप्त होगा। हमें इस दिशा में महिलाओं के नेतृत्व क्षमता का और अधिक विकास करना होगा।  स्थानीय उत्पादों पर आधारित उद्योगों के प्रोत्साहन से आर्थिक स्वालंबन स्वरोजगार तथा रिवर्स माइग्रेशन के लक्ष्यों को प्राप्त किया जा सकता है।  

प्रधानमंत्री के लोकल फॉर वोकल मंत्र की सफलता के लिए भी राज्य के स्थानीय उत्पादों, पारंपरिक फसलों, अनाज तथा हस्तशिल्पो का संरक्षण आवश्यक है। स्थानीय उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के बाजार उपलब्ध कराए जाने आवश्यक है। राज्यपाल ने कहा कि स्थानीय उत्पादों की बेहतर पैकेजिंग तथा मार्केटिंग बहुत आवश्यक है। स्थानीय उत्पादों की पैकेजिंग तथा मार्केटिंग विश्वस्तरीय होनी चाहिए। इनका प्रचार प्रसार डिजिटल प्लेटफार्म पर भी किया जाना चाहिए। स्थानीय उत्पादकों का सीधा डिमांड चैनल से संपर्क होना आवश्यक है।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!