पेंशनधारकों को इस तरह से साईबर ठग बना रहे अपना शिकार। किसी भी हाल में न दें ओटीपी, वरना खाली हो जायेगा बैंक अकाउंट।

मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या ने बताया कि आजकल साईबर अपराधियों द्वारा पेंशनधारकों को जीवन प्रमाण पत्र आनलाईन अपडेट करने के लिए फोन कॉल किया जा रहा है, उनके पास पेंशनधारकों से सम्बन्धी समस्त सूचना यथा सेवानिवृत की तिथि, पी0पी0ओ0 नम्बर, बैंक खाता सम्बन्धी सूचना, आधार कार्ड नम्बर, स्थायी पता, मासिक पेंशन एवं नामिनी सम्बन्धी जानकारी होती है, ताकि पेंशनधारकों को विश्वास दिलाया जा सके कि वे कोषागार/उपकोषागार अथवा पेंशन निदेशालय से सम्बन्धित हैं एवं वे पेंशनधारकों को पूरा डेटा बताते हुये मोबाईल नम्बर पर आई हुई ओ0टी0पी0 साझा करने के लिए कहते हैं। उन्होने कहा कि पेंशनधारकों द्वारा ओ0टी0पी0 साझा करते ही साईबर अपराधी सम्बन्धित पेंशनधारक के बैंक खाते में जमा सम्पूर्ण धनराशि को अन्यत्र बैंक खाते अथवा वालेट में हस्तान्तरित कर देते हैं, जिससे पेंशनधारक आर्थिक ठगी का शिकार हो जाते हैं।

मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या ने कहा कि पेंशनधारक सावधान रहें, कोषागार/उपकोषागार अथवा पेंशन निदेशालय द्वारा किसी भी पेंशनभोगी को जीवन प्रमाण पत्र ऑनलाईन अपडेट करने के लिए किसी भी प्रकार का फोन कॉल नहीं किया जाता है,यह पेंशनधारक का कर्तव्य है कि वे अपने जीवन प्रमाण पत्र को व्यक्तिगत रूप से कोषागार/उपकोषागार अथवा पेंशन निदेशालय में जाकर अपडेट करायें। पेंशनधारक इस तरह की फर्जी एवं अनजान कॉल से सावधान रहें एवं अन्य पेंशनधारकों को भी सावधान करें।  जिससे  कि इस तरह की साईबर ठगी से बचा जा सके।  

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!