प्रसिद्ध माता गर्जिया देवी मंदिर अब श्रद्धालुओं के लिए खुल गया है, दर्शन के लिए उमड़ी भीड़

प्रसिद्ध गर्जिया देवी का मंदिर लगभग 50 दिनों के बाद श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए खोल दिया गया, श्रद्धालुओं की मां के दर्शन के लिए लगी भीड़, साथ ही प्रसाद विक्रेताओं को भी दो माह बाद रोजगार मिलने के बाद खुशियों का माहौल है।

आज सुबह पूजा अर्चना के साथ प्रसिद्ध गर्जिया देवी मंदिर को 10 मई के बाद आज 1 जुलाई को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। प्रसिद्ध गर्जिया देवी मंदिर कोसी नदी के बीचों-बीच एक ऊंचे टीले पर स्थित है। साल 2010 में आई बाढ़ के चलते मंदिर के टीले में दरारें आ गई थीं। जिसके बाद से लगातार ये दरारें बढ़ रही थी।

इससे जहां एक ओर माता के मंदिर को खतरा उत्पन्न हो गया था, तो वहीं मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भी एक बड़ा खतरा हो सकता था। इसको देखते हुए सिंचाई विभाग द्वारा शासन को इसके टीले की मरम्मत का कार्य किये जाने को लेकर प्रस्ताव बनाकर लगातार भेजे जा रहे थे।

इसी क्रम में मई 2024 में इसके प्रथम चरण के कार्य के लिए सिंचाई विभाग को 5 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम जारी हुई थी। जिसके बाद बरसात को देखते हुए 10 मई से 30 जून तक इस मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए बंद कर दिया गया था। यह निर्णय इसलिए लिया गया था कि कार्य के दौरान अगर मंदिर खुलता है तो किसी प्रकार से दर्शनार्थियों को दिक्कत न हो और कोई चोटिल भी न हो। सुरक्षा के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया था।

खबर को शेयर करें ...
  • Related Posts

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    किच्छा विधानसभा क्षेत्र से विधायक तिलक राज बेहड़ ने आज…

    खबर को शेयर करें ...

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    मौसम विज्ञान केंद्र उत्तराखण्ड की ओर से जारी पूर्वानुमान के…

    खबर को शेयर करें ...

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    क्या ये आपने पढ़ा?

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

    चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

    पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

    पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की  बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

    पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

    पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

    (दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई

    (दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई