“यहां जिंदा आदमियों को काट कर उनके बॉडी पार्ट बेच दिए जाते है और खाया जाता हैं।” सोशल मीडिया पर वायरल हुई पोस्ट को पुलिस ने बताया फर्जी और माहौल को खराब करने वाला ।

देश में कुछ अराजक तत्वों द्वारा सोशल मीडया पर आए दिन धार्मिक पोस्ट डालकर माहौल को खराब करने का प्रयास किया जाता रहता है। इस तरह की पोस्टों से लोगों में आपसी साहार्द कम होता है और असुरक्षा की भावना बढ़ जाती है। ऐसी ही एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी है, जिसमें एक यूजर ने धर्म विशेष के लिए आपत्तिजनक बातें लिखी हैं।

इस पोस्ट का संज्ञान लेते हुए बागेश्वर पुलिस ने कहा है की देश में कुछ अराजक तत्वों द्वारा सोशल मीडया पर आए दिन धार्मिक पोस्ट डालकर माहौल को खराब करने का प्रयास किया जाता रहता है। इस तरह की पोस्टों से लोगों में आपसी साहार्द कम होता है और असुरक्षा की भावना बढ़ जाती है। ऐसी ही एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी है, जिसमें एक यूजर ने धर्म विशेष के लिए आपत्तिजनक बातें लिखी हैं। इसका संज्ञान लेते हुए कृपया आप सभी को सूचित किया जाता है कि सोशल मीडिया फेसबुक में यूजर द्वारा एक पोस्ट की गई है, जिसमें यूजर द्वारा “मौलवी साब ने झाड़ फूंक करने” आदि कतिपय तथ्य अंकित किये गये हैं।

उक्त पोस्ट पूर्ण रूप से गलत है, ऐसी कोई भी घटना घटित नहीं हुई है।

बागेश्वर पुलिस ने इस पर कहा है कि उक्त पोस्ट को सोशल मीडिया पर पोस्ट व शेयर ना करें तथा इसमें कोई भी प्रतिक्रिया ना दें।
किसी भी व्यक्ति द्वारा सोशल मीडिया में इस प्रकार की आपत्तिजनक पोस्ट की जाती है तो जनपद पुलिस द्वारा सम्बन्धित के विरुद्ध नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

यूजर ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि ‘‘मेरा नाम —– मैं बागेश्वर का रहने वाला हूं बागेश्वर में सरयू पुल में एक कपड़े की दुकान वाले मौलवी साब बैठे झाड़ फूंक करते हैं एक दिन मैं अपनी परेशानी लेकर उनके यहां गया उन्होंने मुझ पर जादू टोना किया और सोए सोए रातों रात बागेश्वर से 409 km दूर मुरादाबाद,अलीगढ़ से आगे टूआमई गांव पहुंचा दिया यहां जिंदा आदमियों को काट कर उनके बॉडी पार्ट बेच दिए जाते है और खाया जाता हैं। इन लोगो ने मेरे पापा को भी मार दिया है।ये लोग मुझे जहा लाए हैं मौलवी साब के जादू से मुझे ये बागेश्वर ही दिख रहा हैं, अभी मैं जिंदा हूं अगर मुझे कुछ भी हुआ उसके जिम्मेदार बागेश्वर में सरयू पुल पर बैठे वो कपड़े की दुकान वाले लंबे मोटे मौलवी साब ही होंगे,मुझे अब ये पता चला कि ये किस तरह भारत में हिंदू समाज के लोगो को कम कर रहे हैं और आए दिन 167 बच्चे पैदा करके मुस्लिम समाज को बड़ा रहे हैं।”

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी

error: Content is protected !!