वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा की नियुक्ति के आदेश हुए निरस्त। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने यू-टर्न पर उठाया सवाल। जानिए दिनेश मानसेरा ने क्या कहा?

वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा को मुख्यंमत्री तीरथ सिंह रावत के मीडिया सलाहकार के रूप में निुयक्त करने का आदेश आज बुधवार को निरस्त कर दिया गया है। अभी दो दिन पहले 17 मई को ये आदेश जारी किया गया था। आदेश निरस्त करने पर कांग्रेस नेत्री व नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से सवाल करते हुए कहा है कि ऐसी क्या वजह रही जो आपने एक अच्छे फैसले के उपरांत यू टर्न ले लिया..?”

कांग्रेस नेत्री व नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने ट्वीट कर कहा कि “हल्द्वानी निवासी NDTV से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार श्री #दिनेश_मानसेरा जी को 2 दिन पूर्व श्री Tirath Singh Rawat जी (मा. मुख्यमंत्री, उत्तराखंड) आपने अपना मीडिया सलाहकार नियुक्त किया था। जो हम सब हल्द्वानी वासियों के लिये गर्व की बात थी।किंतु आज 2दिन में ऐसा क्या कारण रहा जो श्री दिनेश मानसेरा जी को अपना पद अस्वीकार करना पड़ा और आपको मीडिया सलाहकार संबंधी श्री दिनेश मानसेरा जी की नियुक्ति निरस्त करनी पड़ी। आपके इस फैसले से हम सब आहत है।श्री दिनेश मानसेरा जी NDTV से जुड़े होने के साथ साथ एक स्वतंत्र पत्रकार भी है और पत्रकारिता के क्षेत्र में उनका अहम योगदान और अच्छा सम्मान है। श्री मानसेरा जी की गिनती उत्तराखंड के अग्रणी समाजसेवकों के रूप में भी होती है। उनके सफल मार्गदर्शन मे #टीम_थालसेवा ने कई अच्छे सामाजिक कार्य किये है जो वर्तमान में भी जारी है। जिसके लिये टीम थालसेवा और श्री दिनेश मानसेरा जी को “कौन बनेगा करोड़पति” शो के माध्यम से महानायक अमिताभ बच्चन जी ने भी सम्मानित किया था।हम सब आपसे जानना चाहते है कि ऐसी क्या वजह रही जो आपने एक अच्छे फैसले के उपरांत यू टर्न ले लिया..?

वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा द्वारा ट्वीट कर कहा गया है कि ‘‘मुझे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जी ने अपना मीडिया सलाहकार बनाया गया, इसमें सबकी दुआएँ मिली और जब मैं देहरादून पहुंचा तो उससे पहले ही सोशल मीडिया पर बहुत कुछ मेरे बारे में मेरे परिवार के बारे में उछाला गया इस सबसे भी ज्यादा मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत के फैसले पर सवाल उठे, जबकि मेरी नियुक्ति के पीछे मेरी योग्यता मेरा पत्रकारिता का अनुभव ,व्यवहार मेरे द्वारा लोगो की भलाई ही आधार थी। जोकि ऐसे लोगो को रास नही आरही जो मुझे पहचानते भी नही, इस सभी विषयों से सीएम साहब को भी कष्ट पहुंच रहा है,मुझे बुलाने और अपनी टीम में रखने का निर्णय उनका ही था,मुझे आभास है कि वो सरल सज्जन व्यक्ति है। इसलिए मुझे यहां पदभार ग्रहण करने से पहले सभी विषयों पर सोचना समझना पड़ा और यही फैसला लिया है कि जब हम ऐसे लोगो से घिरे रहेंगे जोकि हमे काम ही करने नही देगे तो ऐसे माहौल मेंकाम करने का औचित्य नही,मुझे पद लालसा कभी नही रही ये मेरे करीबी सब जानते है। मान सम्मान सबका जरूरी है जोकि कायम रहना चाहिए,मैं स्पष्ट मानता हूं कि जब तक कार्य संस्कृति न हो वहां सब बेमानी है इसलिए सबकी गरिमा बनी रहे मैं इस पद को अस्वीकार करता हूँ।’’

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का मुख्य सलाहकार शत्रुघ्न सिंह को बनाया गया है। बुधवार को इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं। मुख्य सलाहकार पद का कार्यभार ग्रहण करने के बाद सचिवालय में शत्रुघ्न सिंह ने मुख्यमंत्री से शिष्टाचार भेंट की।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी