(शहादत) जम्मू कश्मीर के कठुआ में आतंकियों के कायराना हमले में उत्तराखण्ड के 5 वीर-जवान हुए शहीद, विनम्र श्रद्धांजलि..

जम्मू कश्मीर के कठुआ में आतंकियों द्वारा किए गए कायराना हमले में वीरप्रसूता देवभूमि के 5 सपूत मातृभूमि की रक्षा करते हुए आज शहीद हो गए।

असह्य दुख की इस घड़ी में देश की संवेदनाएं परिजनों के साथ हैं। देश की रक्षा में दिए गए उनके सर्वोच्च बलिदान को कृतज्ञ राष्ट्र सदैव स्मरण रखेगा।

भगवान बद्री विशाल से प्रार्थना है कि पुण्यात्माओं को श्रीचरणों में स्थान एवं शोकाकुल परिजनों को यह असीम दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकी हमले में उत्तराखंड के 5 जवानों ने अपना बलिदान दिया। पूरा प्रदेश इस घटना से शोक में डूबा हुआ है। परिजन सदमे में है तो वहीं बलिदानियों के घर -गांव में मातम पसरा हुआ है। कठुआ के बिलावर उपजिले में बदनोता के बरनूड इलाके में जेंडा नाले के पास सेना के एक वाहन पर आतंकियों ने घात लगाकर हमला कर दिया।

आतंकी हमले में पांच जवान बलिदान हो गए वहीं कुछ अन्य बुरी तरह से घायल हो गए। हाई अलर्ट और हमले के इनपुट के बीच जम्मू-कश्मीर में एक माह में सबसे बड़ा आतंकी हमला अंजाम दिया गया। हिजबुल मुजाहिदीन के दुर्दांत आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर सुरक्षाबलों पर हमले के इनपुट सुरक्षा एजेंसियों को पिछले कुछ दिनों से लगातार मिल रहे थे। ऐसे में कठुआ जिले में भी हाई अलर्ट था। बाकायदा सभी एजेंसियों को एहतियात बरतने के निर्देश थे।

आतंकी हमले में कीर्तिनगर ब्लॉक के थाती डागर निवासी राइफलमैन आदर्श नेगी, रुद्रप्रयाग निवासी नायब सूबेदार आनंद सिंह, लैंसडौन निवासी हवलदार कमल सिंह, टिहरी गढ़वाल निवासी नायक विनोद सिंह, रिखणीखाल निवासी राइफलमैन अनुज नेगी ने बलिदान दिया।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी ने कहा….. अत्यंत पीड़ादायक समाचार

कठुआ, जम्मू कश्मीर में हुए कायराना आतंकी हमले के दौरान उत्तराखण्ड के पांच वीर-जवान वीरगति को प्राप्त हो गए। यह हम सभी प्रदेशवासियों के लिए अत्यंत पीड़ा का क्षण है क्योंकि हमने भाई और बेटा भी खोया है। हमारे रणबाँकुरों ने उत्तराखण्ड की समृद्ध सैन्य परंपरा का पालन करते हुए माँ भारती के चरणों में अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।

माँ भारती की रक्षा करते हुए आतंकवाद के विरुद्ध आपका यह सर्वोच्च बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। इस कायरतापूर्ण हमले के दोषी, मानवता के दुश्मन आतंकवादी किसी भी क़ीमत पर बख्शे नहीं जाएँगे और इनको पनाह देने वाले लोगों को भी इसके परिणाम भुगतने होंगे।

सैन्यभूमि उत्तराखण्ड वीर सैनिकों को जन्म देने वाली भूमि है। यहां के जवानों ने सदैव माँ भारती की सेवा में अपने प्राणों की आहुति देकर अपने राष्ट्रधर्म का निर्वहन किया है।

विनम्र श्रद्धांजलि..!

खबर को शेयर करें ...
  • Related Posts

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    किच्छा विधानसभा क्षेत्र से विधायक तिलक राज बेहड़ ने आज…

    खबर को शेयर करें ...

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    मौसम विज्ञान केंद्र उत्तराखण्ड की ओर से जारी पूर्वानुमान के…

    खबर को शेयर करें ...

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    क्या ये आपने पढ़ा?

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    (मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

    चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

    चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

    पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

    पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की  बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

    पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

    पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

    (दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई

    (दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई