संत निरंकारी मंडल ने कोरोना के खिलाफ जंग में प्रदेश को दिये 40 आक्सीजन कंसेंट्रेटर्स, अपने सभी सत्संग घरों को बदलेगा कोविड सेेंटरों में

कोरोना महामारी के खिलाफ इस जंग में हर कोई किसी न किसी रूप में अपना सहयोग कर रहा है। नोवल कोरोना वायरस कोविड.19 की रोकथाम के लिए जहां शासन-प्रशासन पूरी क्षमता के साथ काम कर रहा है वहीं विभिन्न समाजिक संगठन भी इस जंग में बढ़-चढ़कर आगे आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस मौके पर कहा कि ‘‘कोरोना के खिलाफ जंग को जनसहभागिता के साथ ही जीता जा सकता है। मुझे खुशी है कि इस लड़ाई में तमाम सामाजिक व धार्मिक संगठन सरकार का साथ दे रहे हैं। आज संत निरंकारी मंडल देहरादून की ओर से मसूरी जोनल इंचार्ज हरभजन सिंह व हेमराज ने कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी जी की मौजूदगी में 40 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स सरकार को भेंट किए। इनमें से 20 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स गढ़ी कैंट बोर्ड से संचालित अस्पताल व अन्य कंसेंट्रेटर्स पर्वतीय जिलों के अस्पतालों को भेजे जाएंगे। ’’

आगे उन्होंने ट्वीट किया कि ‘‘साथ ही संत निरंकारी मंडल ने उत्तराखंड में अपने समस्त सत्संग घरों को कोविड सेंटर के रूप में परिवर्तित करने का सहमति पत्र भी मुझे सौंपा। इस बात पर संतोष प्रकट किया जा सकता है कि सभी के सहयोग से पिछले कुछ दिनों में शहरी क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की गति धीमी हुई है। दूसरी ओरए पर्वतीय जिलों में कोरोना की रफ्तार को रोकने के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं। गांव स्तर पर ग्राम समितियां बनाई गई हैं। सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए।’’

कोरोना की पहली और दूसरी लहर से अनुभव लेते हुए सरकार ने संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर तैयारियां शुरू कर दी हैं। विभिन्न संस्थाओं की मदद से कोरोना के खिलाफ यह लड़ाई जीतने में काफी आसानी होगी। सरकार द्वारा तमाम प्रयास करने के बावजूद अकेले इस पर काबू पाना आसानी नहीं है। इसलिए जरूरी है कि सभी का सहयेाग इस कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लिया जाए, जिससे इस पर काबू पाया जा सके।

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी