14 जुलाई होगी उत्तराखण्ड की इस बड़ी परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा, सफल आयोजन हेतु सीएस ने दिए दिशा निर्देश

मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने आज राज्य के सभी जिलाधिकारियों तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि 14 जुलाई 2024 को प्रस्तावित उत्तराखण्ड सम्मिलित राज्य सिविल/ प्रवर अधीनस्थ सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2024 के सफल एवं शुचितापूर्ण आयोजन हेतु इस संबंध में जारी दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाए।

मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि 14 जुलाई 2024 को प्रस्तावित उत्तराखंड सम्मिलित राज्य सिविल/ प्रवर अधीनस्थ सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2024 में तैनात समस्त अधिकारियों एवं जिले के सभी परीक्षा केन्द्रों के केन्द्र पर्यवेक्षकों की परीक्षा से 02 दिन पूर्व ब्रीफिंग समस्त जिलाधिकारियों / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों/ पुलिस अधीक्षकों की अध्यक्षता में आहूत की जाए जिसमें सभी केन्द्र व्यवस्थापक अनिवार्य रूप से भाग लें।

सीएस ने कहा कि बैठक में केन्द्र पर्यवेक्षकों / व्यवस्थापकों को परीक्षा की शुचिता एवं पारदर्शिता सुनिश्चित किये जाने हेतु वांछित उपाय सख्ती से बरतने के निर्देश जारी किये जायें। उन्होंने निर्देश दिए कि परीक्षा प्रक्रिया के निर्देशों के अनुसार कार्रवाई किये जाने हेतु केन्द्र पर्यवेक्षकों को निर्देशित किया जाए कि वह सभी कक्ष निरीक्षकों, सचल दल एवं तैनात करने अन्य समस्त कार्मिकों को अपने दायित्वों का पूर्ण निष्ठा के साथ अनुपालन सुनिश्चित किये जाने हेतु सचेत करेंगे।

मुख्य सचिव ने कहा कि परीक्षा के दौरान परीक्षा से सम्बद्ध किसी भी स्तर पर शिथिलता परिलक्षित होने पर इसे अत्यन्त गम्भीरता से लिया जायेगा तदनुरूप कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि परीक्षा से संबंधित समस्त व्यवस्थाओं की जानकारी सभी उपलब्ध माध्यमों से जिले भर में प्रसारित की जाए, ताकि अवांछित तत्वों में प्रशासन की मुस्तैदी का प्रभाव बना रहे।

मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि दूरस्थ एवं संवेदनशील केन्द्रों में पृथक से डेडिकेटेड सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा सतत निगरानी की जाएगी। केन्द्रों में संबंधित सेक्टर मजिस्ट्रेट प्रश्नपत्रों, परीक्षा सामग्री का प्रति पाली पृथक-पृथक संकलित करते हुए पृथक से जमा करेंगे। परीक्षा तिथि के पूर्व से ही स्थानीय अभिसूचना इकाईयाँ / एजेंसीज सक्रिय बनी रहें।

उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्रों पर व्यापक पर्यवेक्षण की आवश्यकता के दृष्टिगत अन्य जनपदीय अधिकारियों को भी उक्त कार्य हेतु तैनात किया जाये तथा जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी परीक्षा अवधि में विभिन्न परीक्षा केन्द्रों का आवश्यक रूप से भ्रमण एवं निगरानी करना सुनिश्चित करें।

सीएस ने कहा कि वर्षाकालीन मौसम के दृष्टिगत आवागमन सुचारू बनाए रखने हेतु अवरूद्ध मार्गों को तत्परता से खोलने हेतु सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जाए।

खबर को शेयर करें ...
  • Related Posts

    (उत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव) बद्रीनाथ व मंगलौर से जीती कांग्रेस, भाजपा को मिली करारी हार

    बद्रीनाथ विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार श्री लखपत सिंह…

    खबर को शेयर करें ...

    एससी एवं एसटी को विभिन्न योजनाओं का लाभ एक ही प्लेटफार्म पर मिले, इसके लिए बनेगी एकीकृत व्यवस्था – सीएम धामी

    मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में आज मुख्यमंत्री…

    खबर को शेयर करें ...

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    क्या ये आपने पढ़ा?

    (उत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव) बद्रीनाथ व मंगलौर से जीती कांग्रेस, भाजपा को मिली करारी हार

    (उत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव) बद्रीनाथ व मंगलौर से जीती कांग्रेस, भाजपा को मिली करारी हार

    एससी एवं एसटी को विभिन्न योजनाओं का लाभ एक ही प्लेटफार्म पर मिले, इसके लिए बनेगी एकीकृत व्यवस्था – सीएम धामी

    एससी एवं एसटी को विभिन्न योजनाओं का लाभ एक ही प्लेटफार्म पर मिले, इसके लिए बनेगी एकीकृत व्यवस्था – सीएम धामी

    एसडीजी रिपोर्ट की रैंकिंग में उत्तराखंड ने सर्वाधिक अंक लेकर हासिल किया पहला स्थान

    एसडीजी रिपोर्ट की रैंकिंग में उत्तराखंड ने सर्वाधिक अंक लेकर हासिल किया पहला स्थान

    (रुद्रपुर) यहां अतिक्रमण हटाने की ऊधम सिंह नगर पुलिस प्रशासन की तैयारी पूरी। 1200 से भी अधिक पुलिस एवं पीएसी बल तथा फायर ब्रिगेड रहेगी मौजूद।

    (रुद्रपुर) यहां अतिक्रमण हटाने की ऊधम सिंह नगर पुलिस प्रशासन की तैयारी पूरी। 1200 से भी अधिक पुलिस एवं पीएसी बल तथा फायर ब्रिगेड रहेगी मौजूद।

    (नगला) बाइक में भरवाया 5 ली. पेट्रोल, कुछ दूर चलने के बाद बंद हुई बाइक, पता चला आधा पानी है, मुख्यमंत्री पोर्टल पर की गयी शिकायत

    (नगला) बाइक में भरवाया 5 ली. पेट्रोल, कुछ दूर चलने के बाद बंद हुई बाइक, पता चला आधा पानी है, मुख्यमंत्री पोर्टल पर की गयी शिकायत

    (राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस) पंतनगर में मत्स्य पालकों को कार्प प्रजातियों के लगभग एक लाख मत्स्य बीज का किया गया वितरण

    (राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस) पंतनगर में मत्स्य पालकों को  कार्प प्रजातियों के लगभग एक लाख मत्स्य बीज का किया गया वितरण