82 दिनों का शक्तिपीठ मां पूर्णागिरि मेला हुआ शुरू, कुमाऊं आयुक्त ने किया शुभारंभ

उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध शक्तिपीठ मां पूर्णागिरि मेले 2024 का मंगलवार को शुभारंभ हो गया हैमां के जयकारों के बीच आयुक्त कुमाऊं श्री दीपक रावत द्वारा ठूलीगाड़ (प्रवेश द्वार) पर फीता काटकर मेले का शुभारंभ किया मेला 82 दिनों (26 मार्च से 15 जून) तक चलेगा

भारत-नेपाल का सीमांकन करने वाली शारदा नदी के तट पर उमड़ता है आस्था का अद्भुत संगम

उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध शक्तिपीठ मां पूर्णागिरि मेला 2024 का पूजा अर्चना कर विधिवत शुभारंभ आयुक्त कुमाऊं दीपक रावत तथा उनकी धर्मपत्नी द्वारा किया गया। इस अवसर पर उन्होंने पूजा अर्चना कर प्रदेश व जनपद में सुख, शांति एवं खुशहाली की कामना की। इससे पूर्व जिलाधिकारी चंपावत नवनीत पांडे द्वारा आयुक्त कुमाऊं का स्वागत बुके देकर किया गया। मंदिर समिति अध्यक्ष किशन तिवारी ने पूजा संपन्न कराई।

किशन तिवारी द्वारा सभी आगंतुको का स्वागत करते हुए मेले को शांति एवं सफलतापूर्वक सहयोग करते हुए मेले का संचालन कर रहे विभिन्न विभागों, संगठनों, संस्थाओं के सहयोग की अपील की। आयुक्त ने कहा कि देश के सुप्रसिद्ध मां पूर्णागिरि मेले का शुभारंभ करना उनका सौभाग्य है।

साथ ही उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के लिए प्रशासन की ओर से यहां बेहतर सुविधाएं विकसित कराई गई है और आगे भी विकसित कराने का पूर्ण प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा मां पूर्णागिरि मेला उत्तर भारत का प्रसिद्ध मेला है। जहां लाखों की संख्या में श्रद्धालु विभिन्न स्थानों से आते हैं। उन्हें प्रत्येक सुविधा मुहैया कराना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है।

इसके अतिरिक्त आयुक्त कुमाऊं ने मेला क्षेत्र में पथ प्रकाश, सड़क, बिजली, पानी, शौचालय, पेयजल सहित विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा लिया साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारियों को सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश दिए।
कार्यक्रम का संचालन भुवन पांडे द्वारा किया गया।

शुभारंभ के अवसर पर जिलाधिकारी नवनीत पांडे, पुलिस अधीक्षक अजय गणपति, उप जिलाधिकारी टनकपुर आकाश जोशी सहित अन्य उपस्थित रहे।

खबर को शेयर करें ...
  • Related Posts

    देहरादून से चलेगी एक और स्पेशल ट्रेन, हर शुक्रवार 26 अप्रैल से 28 जून, 2024 तक

    अब रेलवे प्रशासन द्वारा ग्रीष्मकाल में यात्रियों की हो रही…

    खबर को शेयर करें ...

    अम्बेडकरवादी विचारधारा ने कैसे बदला महिलाओं और वंचितों के जीवन को ?

    भारतरत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर, जिनका जन्म 14 अप्रैल, 1891 को…

    खबर को शेयर करें ...

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    क्या ये आपने पढ़ा?

    देहरादून से चलेगी एक और स्पेशल ट्रेन, हर शुक्रवार 26 अप्रैल से 28 जून, 2024 तक

    देहरादून से चलेगी एक और स्पेशल ट्रेन, हर शुक्रवार 26 अप्रैल से 28 जून, 2024 तक

    अम्बेडकरवादी विचारधारा ने कैसे बदला महिलाओं और वंचितों के जीवन को ?

    अम्बेडकरवादी विचारधारा ने कैसे बदला महिलाओं और वंचितों के जीवन को ?

    (हादसा) यहां नदी में गिरी ऑल्टो कार, 4 की मौत

    (हादसा) यहां नदी में गिरी ऑल्टो कार, 4 की मौत

    सिक्योरिटी गार्ड बना साईबर ठग गिरोह का संचालक, आया एसटीएफ के शिकन्जे में

    सिक्योरिटी गार्ड बना साईबर ठग गिरोह का संचालक, आया एसटीएफ के शिकन्जे में

    लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी किया घोषणापत्र, नाम दिया है ‘मोदी की गारंटी संकल्प पत्र’

    लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी किया घोषणापत्र, नाम दिया है ‘मोदी की गारंटी संकल्प पत्र’

    फर्जी NCERT की किताबों के कवर छापने की अवैध फैक्ट्री का भंडाफोड़, 256 कुंटल कवर्स बरामद

    फर्जी NCERT की किताबों के कवर छापने की अवैध फैक्ट्री का भंडाफोड़, 256 कुंटल कवर्स बरामद