#NHM कर्मियों और मनरेगा कर्मचारियों के समर्थन में आए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत। मांगों को बताया उचित, कल करेंगे 1 घंटे का उपवास।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संगठन उत्तराखण्ड ने अपनी 9 सूत्रीय मांगों पर शासन की ओर से किसी प्रकार की सकारात्मक पहल न होने पर 6 जून तक होम आइसोलेशन पर चले गये थे। इससे राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं काफी प्रभावित हुईं। अब इनके समर्थन में उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आ गये हैं। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी देते हुए कहा है कि वे एनएचएम कर्मचारियों की मांगांे के समर्थन में कल 1 घंटे का विरोध स्वरूप उपवास करेंगे।

उन्होंने कहा है कि “2009 से उपनल के माध्यम से NHM में सेवारत कर्मियों पर हमारा कोरोना संक्रमण के खिलाफ हमारी लड़ाई का दारोमदार है। ये हमारी स्वास्थ सेवाओं की बैकबोन हैं। इनकी कुछ मांगें हैं, मांगें तो न्यायोचित हैं। मगर सरकार को कोई ऐसा रास्ता निकालना चाहिये ताकि उनका नियमितिकरण होता रहे। इधर सरकार विभागीय पद निकाल रही है उनमें हम परीक्षा से लेंगे तो ये बच्चे कहां जायेंगे? ये हमेशा उपनल कर्मी ही रह जायेंगे। कुछ मांगें हमारे मनरेगा कर्मचारियों की थी, उनको तो सरकार ने शायद बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी कर ली है। मैं, सरकार के इस रवैये के खिलाफ अपने दिल्ली स्थित आवास में (प्रातः 10 बजे से 11 बजे तक) 1 घंटे का उपवास रखूंगा और अपना विरोध सरकार की उदासीनता के प्रति जाहिर करूंगा और एन.एच.एम. व मनरेगा कर्मियों के साथ अपनी एकजुटता प्रकट करूंगा।”

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या आपने यह ख़बर पढ़ी