(श्री केदारनाथ धाम) ये रहेगा रुद्रप्रयाग का यातायात एवं यात्रा प्लान, पुलिस प्रशासन ने कसी कमर

जनपद रुद्रप्रयाग में स्थित श्री केदारनाथ धाम के कपाट आगामी 10 मई 2024 को खुल रहे हैं। यात्रा के सफल संचालन आने वाले श्रद्धालुओं की प्रभावी सुरक्षा व्यवस्था एवं भीड़ नियंत्रण तथा यातायात प्रबन्धन हेतु श्री केदारनाथ धाम सहित यात्रा के सभी पड़ावों पर पुलिस बल को ड्यूटी पर लगाया गया है। ड्यूटी पर लगे समस्त पुलिस बल की करन सिंह नगन्याल पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र, उत्तराखण्ड एवं डॉ0 विशाखा अशोक भदाणे पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग ने ब्रीफिंग की गयी।



जनपद रुद्रप्रयाग का यातायात प्लान एवं यात्रा प्लान

सर्वप्रथम पुलिस उपाधीक्षक रुद्रप्रयाग ने जनपद की तैयारियों, यात्रा अवधि में की जाने वाली कार्यवाही तथा पुलिस बल के व्यवस्थापन व यातायात प्लान की जानकारी दी गयी। साथ ही उनके द्वारा जनपद से होकर जाने वाले वैकल्पिक मार्गों व लैण्ड स्लाइड स्थलों की जानकारी दी गयी। उनके द्वारा बताया गया कि पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग के स्तर से उनको यातायात का नोडल व सीओ गुप्तकाशी को केदारनाथ यात्रा व्यवस्था का नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उनके द्वारा आश्वस्त किया गया कि पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग के नेतृत्व मे गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी केदारनाथ यात्रा का संचालन सही ढंग से करेंगे।

पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग का सम्बोधन एवं जनपद पुलिस की तैयारियां

पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग ने जनपद पुलिस की ओर से पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र महोदय का स्वागत कर अवगत कराया गया कि आगामी 10 मई 2024 को श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के दृष्टिगत पुलिस के स्तर से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गयी हैं। ओंकारेश्वर मन्दिर ऊखीमठ से डोली का प्रस्थान होगा और आवश्यक पुलिस बल भी साथ में रहेगा। यात्रा को सुचारु रूप से सम्पन्न कराये जाने हेतु रुद्रप्रयाग से लेकर गौरीकुण्ड व गौरीकुण्ड से श्री केदारनाथ धाम तक के पैदल पड़ावों पर पुलिस बल की तैनाती के आदेश जारी कर दिये गये हैं। श्री केदारनाथ धाम हेतु एडवान्स फोर्स पहले ही भेजी गयी थी, जो कि वहां पर पहुंच गयी है। ब्रीफिंग के उपरान्त अन्य सभी पड़ावों पर पुलिस बल को तुरन्त रवाना किया जा रहा है। कल सांय काल तक हरेक प्वाइन्ट पर पर्याप्त पुलिस बल की उपलब्धता सुनिश्चित हो जायेगी। प्रत्येक यात्रा पड़ाव पर तैनात होने वाले पुलिस बल को अलग से ब्रीफ किया जाएगा।
अतिरिक्त पुलिस बल के रुकने एवं उनके भोजन इत्यादि का प्रबन्ध किया जा चुका है। ठण्ड के मौसम के चलते अतिरिक्त रूप से गर्म जैकेट, इनर, दस्ताने, जूते, मोजे इत्यादि सामग्री उपलब्ध करायी गयी है व सभी को गर्म कपड़े बरसाती व जरूरी सामग्री साथ में ले जाने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा सम्पूर्ण यात्रा मार्ग एवं थाना चौकियों का भ्रमण एवं निरीक्षण कर जरूरी कमियों को पूरा करा लिया गया है। जिले के अन्य विभागों व विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के साथ गोष्ठियों का आयोजन किया जा चुका है। आगामी दिनों में जनपद में संचालित होने वाली हैलीकॉप्टर सेवा के दृष्टिगत सभी ऑपरेटरों के साथ भी सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी व थाना प्रभारियों के स्तर से गोष्ठी की जायेगी। जनपद में बाहरी व्यक्तियों का निरन्तर सत्यापन एवं सुरक्षा की दृष्टि से होटलों व प्रतिष्ठानों का फायर सेफ्टी ऑडिट किया जा रहा है। गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी नशे के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की जायेगी। शराब तस्करी, भण्डारण, विक्रय करने वालों पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। इस बार नियुक्त होने वाले समस्त पुलिस पुलिस कार्मिकों को मार्गदर्शिका बुकलेट वितरित की गयी हैं। यात्रियों को आवश्यक जानकारी दिये जाने हेतु ब्रॉशर दिये जायेंगे। हैलीकॉप्टर टिकटों के नाम पर होने वाली ठगी पर विशेष फोकस रहेगा, अब तक 6 फर्जी वेबसाइट्स को बन्द कराया गया है व 9 मोबाइल नम्बर ब्लॉक कराये हैं, इस कार्य के लिए जनपद स्तर पर साइबर सैल की टीम को एक्टिव कर दिया गया है। जनपद के सम्पूर्ण यातायात को कन्ट्रोल रूम के माध्यम से नियंत्रित किया जायेगा। संकरे पैचों पर यातायात संचालन हेतु दुपहिया वाहनों के साथ पुलिस बल नियुक्त रहेगा। श्री केदारनाथ धाम में गलत रील्स बनाकर धाम की मर्यादा भंग करने वालों पर नजर रखी जायेगी तथा ऐसे लोगों के विरुद्ध उचित वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। इसके अतिरिक्त ऑपरेशन मर्यादा के तहत भी कार्यवाही की जायेगी। केदारनाथ धाम सहित यात्रा मार्ग पर श्रद्धालुओं के आपस में बिछड़ने पर आपस में परिजनो या साथियों से मिलाये जाने, सामान या मोबाइल फोन खोने पर ढूंढकर वापस दिलाये जाने के लिए “ऑपरेशन मुस्कान” चलाया जायेगा।

पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र, का सम्बोधन एवं पुलिस कार्मिकों के अन्दर जोश का समागम

पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र महोदय द्वारा जनपद पुलिस की तैयारियों एवं यात्रा प्लान व प्रबन्धन पर प्रसन्नता व्यक्त की गयी। इस अवसर पर उनके द्वारा उपस्थित सभी कार्मिकों से पृच्छा की गयी कि कितनों के द्वारा केदारनाथ धाम यात्रा से सम्बन्धित ड्यूटियों का निर्वहन पहली बार किया जा रहा है। काफी संख्या में हाथ खड़े हुए, इसका कारण यह कि उपस्थित पुलिस बल में नव नियुक्त पुलिस आरक्षी एवं फायर कार्मिक व कुमायूं परिक्षेत्र से आया पुलिस बल मौजूद था। इस पर पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र महोदय ने सभी का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि आप ऐसी जगह पर ड्यूटी करने जा रहे हैं, जहां पर आपको अपने कर्तव्य निर्वहन के साथ ही आत्मसन्तुष्टि भी मिलेगी। बस आपको अपना आचरण व व्यवहार सही रखना है। देश के कोने-कोने से आया श्रद्धालु आपके व्यवहार का अनुभव लेकर ही यहां से वापस जाता है। यदि आपका व्यवहार, बोलने का तरीक सही रहेगा तो सामने वाले श्रद्धालु की आधी समस्या वहीं पर समाप्त, क्योंकि वह भी काफी दूर से हजारों किलोमीटर का सफर कर आप तक पहुंचता है। ऐसे में आपका व्यवहार ही आपका परिचय होना चाहिए। उनके द्वारा उत्तराखण्ड पुलिस के कुछ अच्छे व्यवहार एवं लोगों की मदद के कुछ पुराने अनुभव भी साझा किये गये। सभी को प्रसन्न भाव से अपने कर्तव्य का निर्वहन करना है। उन्होने बताया कि चारधाम की यात्रा सभी की रोजी रोटी का साधन है, हम और आप इस क्षेत्र में नौकरी कर रहे हैं तो कुछ लोग अपना व्यवसाय। सबको साथ लेकर अपने कार्यों को करना है। यात्रा में ऐसे भी लोग आयेंगे जो कि वीडियो, सोशल मीडिया, ब्लॉगिंग इत्यादि करके इसके पॉजिटिव स्वरूप का बखान करेंगे परन्तु कुछ ऐसे भी होंगे जो नेगेटिव वीडियो बनाकर या गलत रील्स बनाकर यहां की गरिमा खराब करने का प्रयास करेंगे ऐसे गलत करने वालों का चिन्हीकरण कर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये। सभी को निर्देश दिये गये कि हैलीकॉप्टर टिकटों के नाम पर होने वाली ठगी के प्रकरणों में यदि मुकदमा दर्ज किया जाये तो सम्बन्धित शिकायतकर्ता के बयान व अन्य साक्ष्य जैसे बैंक डिटेल्स या फर्जी टिकट की कॉपी इत्यादि प्राप्त कर लें ताकि उसके गन्तव्य पर वापस चले जाने के उपरान्त उसे दुबारा न आना पड़े, कुछ मामलों में अनावश्यक सफर के चलते शिकायतकर्ता दुबारा नहीं आता जिस कारण केस अनावश्यक तौर पर लम्बित रहते हैं। जनपद पुलिस द्वारा गत वर्ष चलाये गये “ऑपरेशन मुस्कान” व इस बार भी इसे जारी रखने की सराहना की गयी तथा ऑपरेशन मर्यादा के हरेक प्रावधानों को शत-प्रतिशत लागू करने के निर्देश दिये गये। उन्होंने उपस्थित पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये कि यात्रा काल में सराहनीय कार्य करने वाले कार्मिकों को नियमित तौर पर नगद पारितोषिक से सम्मानित किया जाये। पशु क्रूरता के प्रकरणों को संवेदनशीलता व गम्भीरता से लेकर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों पर निरन्तर दृष्टि रखे जाने, सरहदी जनपदों से आवश्यक समन्वय बनाये रखने, वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करने के सम्बन्ध में निर्देशित किया गया। अधीनस्थ समस्त स्टाफ के पास उनके एसओ, इन्चार्ज, सीओ व एसपी के मोबाइल नम्बर अनिवार्य तौर पर होने के निर्देश दिये गये। आईजी गढ़वाल ने कहा कि उत्तराखण्ड पुलिस के अन्दर एसडीआरएफ ने निरन्तर काफी अच्छे कार्य किये गये हैं, उनका मार्गदर्शन एवं अनुभव केदारनाथ धाम जैसी जगह के लिए अनुकरणीय रहने वाला है। सिविल फोर्स को भी खाली समय में इनसे रेस्क्यू के गुर सिखाये जाने की अपेक्षा रखी गयी। किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर हमको फर्स्ट रिस्पाण्डर के रूप में कार्य करने, त्वरित घटना स्थल पर पहुंचकर गोल्डन आवर के अन्दर अधिकाधिक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। थाने चौकियों में आपदा उपकरणों के साथ रात्रि में जाने के लिए लाइट इत्यादि की व्यवस्था होने के निर्देश दिये गये। यात्रा पर चलने वाले घोड़ा-खच्चर के हॉकरों डण्डी-कण्डी चलाने वालों का सत्यापन के साथ ही उनके प्रतिदिवस का सही विवरण या पहचान होने के निर्देश दिये गये ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी कारित करने पर उनकी भी जिम्मेदारी तय की जाये। सभी कार्मिक सही वर्दी धारण करें व सभी के पास सीटी अवश्य होनी चाहिए। सभी के पास डण्डे अवश्य हों, क्योंकि पैदल मार्ग पर घोड़े खच्चर का आवागमन भी होता है, ताकि अचानक से उनके सामने आने पर उनको हॉंका जा सके और डण्डे की सहायता से पैदल पेट्रोलिंग भी हो सके। विशेष तौर पर पुनः निर्देशित किया कि श्रद्धालुओं व यात्रियों के साथ अभद्र व्यवहार की शिकायतें नहीं आनी चाहिए। असभ्य शब्दों का प्रयोग करने से बचें। पीड़ितों व जरूरतमंदों की यथासम्भव मदद करने, नवागत पुलिस कार्मिकों को वरिष्ठ पुलिस कार्मिक के साथ ड्यूटीरत करने, अनुशासित रहने व समय-समय पर अपने स्तर से भी श्रद्धालुओं को यहॉं की भौगोलिक परिस्थितियों के बारे में बताने के निर्देश दिये गये। यात्रा के शुरुआती चरण में भीड़ नियंत्रण, यातायात नियंत्रण के कार्य की चुनौती का सही ढंग से समाधान करने के निर्देश दिये। जिस उद्देश्य को लेकर हम हैं उसी अनुरूप यात्रा का सफल संचालन करने की अपेक्षाओं के साथ सभी को शुभकामनायें दी गयी। तदोपरान्त ब्रीफिंग की समाप्ति की गयी।

केदारनाथ धाम यात्रा ड्यूटी में लगने वाले पुलिस बल का विवरण

केदारनाथ धाम यात्रा के दृष्टिगत जनपद रुद्रप्रयाग की सभी सीमाओं से लेकर जिले के सभी थाना, चौकियों, पुलिस लाइन, चेक पोस्ट इत्यादि से श्री केदारनाथ धाम तक 04 पुलिस उपाधीक्षक, 16 निरीक्षक, 24 उपनिरीक्षक, 14  महिला उपनिरीक्षक, 44 अपर उपनिरीक्षक, 440 मुख्य आरक्षी व आरक्षी, 64 महिला आरक्षी, 1 कम्पनी 2 प्लाट्रून पीएसी (कुल 120), 6 सबटीम एसडीआरएफ (कुल 48), 30 फायर कार्मिक, 7 जल पुलिस कार्मिक, 3 निरीक्षक यातायात, 5 उपनिरीक्षक यातायात, 16 मुख्य आरक्षी व आरक्षी यातायात, 60 होमगार्ड्स, 225 पीआरडी जवान सहित कुल 1120 कार्मिक तैनात किये जा रहे हैं।

इस अवसर पर पुलिस उपाधीक्षक रुद्रप्रयाग श्री प्रबोध कुमार घिल्डियाल, सहायक सेनानायक 46 वीं वाहिनी श्री अविनाश वर्मा (हाल पुलिस उपाधीक्षक केदारनाथ यात्रा) प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाइन, निरीक्षक यातायात, अभिसूचना, संचार, एसडीआरएफ, प्रभारी जिला कमाण्डेन्ट होमगार्ड्स, प्रभारी जिला युवा कल्याण अधिकारी, समस्त थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी, शाखा प्रभारी व यात्रा व्यवस्था में नियुक्त होने वाला पुलिस बल उपस्थित रहा।

खबर को शेयर करें ...

Related Posts

(उपराष्ट्रपति भ्रमण) जनपद नैनीताल में ये रहेगा डायवर्जन प्लान, घर से निकलने से पहले जान लें

उपराष्ट्रपति भारत सरकार के जनपद नैनीताल भ्रमण के दौरान डायवर्जन…

खबर को शेयर करें ...

शहद उत्पादन के क्षेत्र में पंत विश्वविद्यालय निभाए लीड भूमिका- राज्यपाल। 31 मई को यहां होगा ‘हनी उत्सव’ का आयोजन

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने कहा है…

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या ये आपने पढ़ा?

(उपराष्ट्रपति भ्रमण) जनपद नैनीताल में ये रहेगा डायवर्जन प्लान, घर से निकलने से पहले जान लें

(उपराष्ट्रपति भ्रमण) जनपद नैनीताल में ये रहेगा डायवर्जन प्लान, घर से निकलने से पहले जान लें

शहद उत्पादन के क्षेत्र में पंत विश्वविद्यालय निभाए लीड भूमिका- राज्यपाल। 31 मई को यहां होगा ‘हनी उत्सव’ का आयोजन

शहद उत्पादन के क्षेत्र में पंत विश्वविद्यालय निभाए लीड भूमिका- राज्यपाल। 31 मई को यहां होगा ‘हनी उत्सव’ का आयोजन

ट्रेन में हुई महिला को प्रसव पीड़ा, रेलवे सुरक्षा बल ने ऐसे की मदद, महिला ने दिया बच्चे को जन्म

ट्रेन में हुई महिला को प्रसव पीड़ा, रेलवे सुरक्षा बल ने ऐसे की मदद, महिला ने दिया बच्चे को जन्म

(दु:खद) देघाट चचरोटी के पास सेंट्रो कार गिरी गहरी खाई में, रात भर चला सर्च अभियान

(दु:खद) देघाट चचरोटी के पास सेंट्रो कार गिरी गहरी खाई में, रात भर चला सर्च अभियान

(ट्रेन कैंसिल तारीख) टनकपुर-बरेली जं0 विशेष गाड़ी और पीलीभीत- टनकपुर- पीलीभीत विशेष गाड़ी  रहेगी निरस्त

(ट्रेन कैंसिल तारीख) टनकपुर-बरेली जं0 विशेष गाड़ी और पीलीभीत- टनकपुर- पीलीभीत विशेष गाड़ी  रहेगी निरस्त

(दु:खद वीडियो) यहां एक्सकैवेटर पर गिरा बोल्डर, ऑपरेटर की हुई मौके पर ही मौत।

(दु:खद वीडियो) यहां एक्सकैवेटर पर गिरा बोल्डर, ऑपरेटर की हुई मौके पर ही मौत।