(खुशखबरी) अब 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर छात्राओं को मिलेंगे मुफ्त सैनिटरी पैड, मिलेगा बीच में ब्रेक भी

शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाले विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग ने बोर्ड परीक्षाओं के दौरान स्कूलों के लिए मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन के लिए अग्रसक्रिय उपायों की घोषणा की है, ताकि 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के दौरान महिला छात्रों के स्वास्थ्य, गरिमा और शैक्षणिक सफलता को सुनिश्चित किया जा सके।

परीक्षाओं के दौरान स्वच्छता उत्पादों और मासिक धर्म स्वच्छता सुविधाओं तक सीमित पहुंच के कारण लड़कियों के सामने आने वाली चुनौतियों को समझते हुए, विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग ने राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों के सभी स्कूलों, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, केंद्रीय विद्यालय संगठन और नवोदय विद्यालय समिति को एक परामर्श जारी किया है।

मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन एक लड़की के समग्र कल्याण का एक महत्वपूर्ण पहलू है और यह उसके शैक्षणिक प्रदर्शन के रास्ते में आड़े नहीं आना चाहिए। विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के दौरान महिला छात्रों का समर्थन करने के लिए स्कूलों में मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन को प्राथमिकता देता है।

प्रमुख पहलों में शामिल हैंः

  • सैनिटरी उत्पादों का प्रावधानः सभी 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर मुफ्त सैनिटरी पैड आसानी से उपलब्ध होंगे, इसका उद्देश्‍य सुनिश्चित करना है कि आवश्यकता पड़ने पर लड़कियों की परीक्षा के दौरान आवश्यक स्वच्छता उत्पादों तक पहुंच हो सके।

  • रेस्टरूम ब्रेकः महिला छात्रों को मासिक धर्म की जरूरतों को पूरा करने, असुविधा को कम करने और परीक्षा के दौरान ध्यान केंद्रित करने के लिए आवश्यक रेस्टरूम ब्रेक लेने की अनुमति दी जानी चाहिए।

  • संवेदीकरण और जागरूकता कार्यक्रमः छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों के बीच मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों/एबी द्वारा शैक्षिक कार्यक्रमों को लागू किया जाएगा। इस दृष्टिकोण का उद्देश्य मासिक धर्म के बारे में लोगों में जो गलत सोच है उसकों कम करना और स्कूल के वातावरण को और अच्‍छी समझने के लिए बढ़ावा देना है।

परीक्षा के दौरान मासिक धर्म स्वच्छता की चिंताओं को संबोधित करते हुए, विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग महिला छात्रों के साथ उनकी मासिक धर्म की जरूरतों के संबंध में गरिमा और सम्मान के साथ व्यवहार करने के महत्व पर बल देता है, जिससे लड़कियों को आत्मविश्वास से परीक्षाओं में भाग लेने और अपनी शैक्षणिक क्षमता प्राप्त करने के लिए सशक्त बनाया जा सके।

खबर को शेयर करें ...

Related Posts

किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

किच्छा विधानसभा क्षेत्र से विधायक तिलक राज बेहड़ ने आज…

खबर को शेयर करें ...

(मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

मौसम विज्ञान केंद्र उत्तराखण्ड की ओर से जारी पूर्वानुमान के…

खबर को शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या ये आपने पढ़ा?

किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

किच्छा में युवा प्रतिभाओं के निखार हेतु शीघ्र से शीघ्र स्टेडियम निर्माण किया जाये – बेहड़

(मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

(मौसम) इन जनपदों में होगी कई दौर की तेज बारिश ?

चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

चार धाम एवं प्रमुख मन्दिरों के नाम से मिलते जुलते नाम पर समिति अथवा ट्रस्ट बनाने पर होगी कठोर कानूनी कार्रवाई

पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

पन्तनगर हवाई पट्टी हेतु अधिग्रहित भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के नाम होगी निःशुल्क हस्तांतरित। कैबिनेट की  बैठक में लिए गए ये महत्वपूर्ण निर्णय।

पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

पंतनगर एयरपोर्ट की देश के प्रमुख शहरों से कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में कार्य किये जाएं- मुख्यमंत्री धामी

(दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई

(दीजिये बधाई) पन्त विश्वविद्यालय के क्वात्रा बने अमेरिका के राजदूत, कुलपति डा. मनमोहन सिंह चौहान ने उन्हें दी बधाई